Education

समास किसे कहते हैं? समास की परिभाषा तथा समास के 6 भेद


नमस्कार दोस्तों, आज की इस लेख में आप सभी का स्वागत हैं। इस लेख में आप जानेंगे की समास किसे कहते है और समास के कितने प्रकार होते हैं इस लेख में आप समास के बारे में बहुत कुछ जान जायेंगे।

समास किसे कहते हैं

दो या दो से अधिक पदों के मेल से जब नए यौगिक शब्द बनते हैं तो इस प्रक्रिया को समास कहते हैं। अर्थात् जब दो या दो से अधिक शब्दों को मिलाने पर एक नया शब्द बनता हैं उसे समास कहते हैं। आइये इनसे जुड़े कुछ उदाहरण को जानते हैं।

समस्त पद समास
घोड़े पर सवार घुड़सवार
शिव का आलय शिवालय
काठ की पुतली कठपुतली

समास के प्रकार

समास के 6 प्रकार होते हैं ।

  1. तत्पुरुष समास (Determinative Compound)
  2. अव्ययीभाव समास (Adverbial Compound)
  3. कर्मधारय समास (Appositional Compound)
  4. द्विगु समास (Numeral Compound)
  5. द्वन्द समास (Copulative Compound)
  6. बहुव्रीहि समास (Attributive Compound)
के भेद

तत्पुरूष समास किसे कहते हैं

वह समास जिसमें पहला पद प्रधान हो तथा विग्रह करने पर कर्ता और संबोधन कारक को छोड़कर अन्य कारक आते हैं ; उसे तत्पुरूष समास कहते हैं।

संगीत को जानने वाला संगीतज्ञ
मन को हरने वाला मनोहर
राजा का पुत्र राजपुत्र
राजा का घर राजगृह
लोक के लिए हितकारी लोकहितकारी
यश को देने वाली यशोदा

अव्ययीभाव समास किसे कहते हैं

अव्ययीभाव समास जिस समास में पहला पद अव्यय हो तथा उसके योग में समस्त पद भी अव्यय बन जाये , वहाँ अव्ययीभाव समास होता है ।

पेट भरकर भरपेट
शक्ति के अनुसार यथाशक्ति
बिना भय के निर्भय

कर्मधारय समास किसे कहते हैं

जिस समास में दोनों पदों में विशेषण – विशेष्य अथवा उपमेय – उपमान का संबंध होता है , उस सम को कर्मधारय समास कहते हैं ; जैसे , , , इत्यादि ।

जिसका पीला है अम्बर पीताम्बार
जिसका नीला है कण्ठ नीलकण्ठ
जिसका चन्द्रमा के समान मुख हो चन्द्रमुख
जो पुरुष में उत्तम है पुरूषोत्तम

बहुव्रीहि समास किसे कहते हैं

जिस समास में समस्त पदों में से कोई भी पद प्रधान न हो , और अन्य पद प्रधान हो , वहाँ बहु समास होता है । बहुव्रीहि द्वारा रचित पद विशेषण का कार्य करता है।

दश हैं आनन जिसके दशानन (अर्थात् रावण)
चार हैं आनन जिसके चतुरानन (अर्थात् ब्रह्मा)
लम्बा है उदर जिसका लम्बोदर (अर्थात् गणेश)
चार भुजायें जिसकी चतुर्भुज (अर्थात् ब्रह्मा या विष्णु)

द्वन्द समास किसे कहते हैं

इस समास में दोनों पद प्रधान होते हैं । तथा विग्रह करने पर ‘ और ‘ शब्द का लोप हो , वहाँ द्वन्द समास होता है । ,

माता – पिता माता और पिता
अमीर – गरीब अमीर और गरीब
नाक – कान नाक और कान
जीव – जन्तु जीव और जन्तु
नमक – मिर्च नमक और मिर्च

द्विगु समास किसे कहते हैं

वह समास जिसमें प्रथम पद संख्यावाचक होता है तथा समस्त पद समूह का अर्थ बताते हैं , वहाँ द्विगु समास होता है , जैसे- , , , इत्यादि ।

तीन नेत्रों का समूह त्रिनेत्र
नौ रत्नों का समाहार नवरत्न
पाँच वटों का समूह पंचवटी

इस लेख के बारे में:

अभी तक आपने समास किसे कहते हैं इसके बारे में जाना। यदि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भेजकर हमारा मनोबल बढ़ा सकते है। यदि आपको इस लेख में कोई भी परिभाषा को समझने में दिक्कत होती है या आपको नहीं समझ मे आते है। तो आप नीचे Comment में अपनी confusion लिख सकते है। मै जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब दूंगा। धन्यवाद! इस पूरे पोस्ट को पढ़ने के लिए और अपना कीमती समय देने के लिए आप सभी का धन्यवाद! आपका दिन शुभ हो!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button