Education

चक्रवृद्धि ब्याज फार्मूला, परिभाषा | Compound Interest Formula In Hindi


Compound Interest Formula In Hindi : प्रिय मित्रों आज हम आपको चक्रवृद्धि ब्याज के बारे में विस्तार से बताएंगे। आज हमने इस लेख में चक्रवृद्धि ब्याज किसे कहते है, चक्रवृद्धि ब्याज की परिभाषा, चक्रवृद्धि ब्याज का सूत्र इत्यादी के बारे आपके लिए विस्तार से जानकारी दी है। हमारा यह लेख पढ़ने के बाद आपको Chakravarti Byaj की पूर्ण जानकारी के बारे में पता लग जाएगा। 

हमारा यह लेख कक्षा 8, 9, 10, 11, 12 के विद्यार्थियों के लिए बहुत अधिक उपयोगी है। इसलिए विद्यार्तियो की सहायता के लिए हमने Byaj Ka Formula लिखा है।

Compound Interest In Hindi


चक्रवृद्धि ब्याज (Compound Interest) :- जब किसी व्यक्ति या बैंक से ली गई धनराशि का ब्याज समय पर न देकर उसे मूल धनराशि में जोड़ दिया जाता है और फिर उस धनराशि पर ब्याज लगाया जाता है, उसे चक्रवृद्धि ब्याज कहते है।

साधारण ब्याज :- ब्याज जब केवल मूलधन पर एक निश्चित समय के लिए एक ही दर पर लगाया जाता हैं, तो उसे साधारण ब्याज कहते हैं। 

मूलधन (Principal) : वह धन, जो कर्ज के रूप में ली जाती है या दी जाती है। वह मूलधन कहलाता है।  इसे P से व्यक्त किया जाता है।

समय (Time) : कर्ज ली या दी जाने की अवधि समय कहलाता है। इसे T या t से व्यक्त किया जाता है।

ब्याज दर ( Rate of Interest) : जिस दर से ब्याज लिया या दिया जाता है, उसे ब्याज दर कहा जाता है। इसे r या R से सूचित किया जाता है।

ब्याज ( Interest ) : मूलधन के अतिरिक्त जो धन वापस किया जाता है, उसे ब्याज कहा जाता है। इसे I से सूचित किया जाता है।

मिश्रधन ( Amount ) : ब्याज सहित मूलधन को मिश्रधन कहते है, इसे A से व्यक्त किया जाता है।

Chakravarti Byaj Ka Formula


चक्रवृद्धि ब्याज का सूत्र :- ब्याज वाले अधिकतर प्रश्नों में समय सप्ताह, महीनें, तिमाही, छमाही आदि के रूप में होते है। जिसे सरलता से व्यक्त करने के लिए निम्न रूप का प्रयोग किया जाता है।

Note:-
जब ब्याज छमाही संयोजित होता है, तो r = R / 2 , n = 2T
ब्याज जब तिमाही संयोजित होता है, तो r = R / 4 , n = 4T

ब्याज सूत्र सूत्र
चक्रवृद्धि ब्याज (1 + R / 100 ) T – मूलधन
चक्रवृद्धि ब्याज  मूलधन (1 + दर / 100)T – 1]
चक्रवृद्धि ब्याज मिश्रधन – मूलधन
साधारण ब्याज मिश्रधन – मूलधन  I = A P
मूलधन मिश्रधन – साधरण ब्याज P = A I
मूलधन साधारण ब्याज × 100 / समय × ब्याज की दर P = (I ×  100) / R ×  T
मिश्रधन मूलधन + साधरण ब्याज A = P + I
मिश्रधन मूलधन × (100 + ब्याज की दर समय) A = P × (100 + R)
समय साधरण ब्याज × 100 / मूलधन × ब्याज की दर T = (I × 100) / (P × R)
ब्याज की दर साधरण ब्याज × 100 / मूलधन × समय R = (I × 100) / (P × T)

Note:- साधारण ब्याज के संकेत अर्थ

I = Interest (ब्याज)

P = Principal (मूलधन)

R = Rate of Interest ( ब्याज दर)

CI = चक्रवृद्धि ब्याज ( Compound Interest )

यह भी पढ़ें –

समद्विबाहु त्रिभुज | क्षेत्रफल का सूत्र | परिमाप का सूत्र | Samdibahu Tribhuj

समकोण त्रिभुज किसे कहते है | समकोण त्रिभुज के प्रकार | Samkon Tribhuj

सरलीकरण फार्मूला, परिभाषा | Simplification In Hindi

साधारण ब्याज फार्मूला, परिभाषा | Simple Interest Formula In Hindi

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा लिखा गया Compound Interest Formula In Hindi आपको पसंद आयी होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button