BusinessTechnology

Alp viram chinh।अल्प विराम चिह्न क्या है- परिभाषा, उदाहरण और प्रयोग


हैलो मित्रों, आप सबका हिंदी व्याकरण के एक और महत्वपूर्ण पाठ में स्वागत है। आज के जानकारी का विषय है Alp viram chinh ( अल्प विराम चिह्न)। जी हा दोस्तो, आज हम alp viram chinh के बारे में जानने वाले है।आखिर ये Alp viram chinh क्या है? इसकी परिभाषा, उदाहरण और प्रयोग भी हम देखेंगे।


Alp viram chinh क्या है?

अल्प विराम चिह्न, पूर्ण विराम चिह्न की तरह ही एक संकेत है जिसका प्रयोग हम लिखते समय करते है।अल्प विराम चिह्न कुछ इस तरह का होता है ( , ) । अंग्रेजी में अल्प विराम को Comma कहा जाता है।

दोस्तो अल्प विराम में अल्प का मतलब होता है थोड़ा और विराम का मतलब होता है रुकना।”जब किसी वाक्य के बीच हम थोड़ा रुकते है तो वहा पर अल्प विराम चिह्न का प्रयोग किया जाता है।”

Alp viram chinh का प्रयोग कब किया जाता है?

जब किसी वाक्य के बीच काफी कम समय के लिए ठहराव होता है, तब वहा पर apl viram chinh का प्रयोग किया जाता है।

ध्यान दीजिए की पूर्ण विराम का प्रयोग किसी वाक्य के समाप्ति के समय किया जाता है किन्तु alp viram chinh का प्रयोग किसी वाक्य के बीच में किया जाता है

जैसे – 

  • खाओ मत, जाओ।
  • बाजार से आम, अमरूद, केले आदि लेते आना।
  • पढ़ना, लिखना बहुत जरूरी है।
  • सुनो बच्चो, पेड़ मत तोड़ो। आदि

Alp viram chinh का प्रयोग करने का नियम

वैसे तो हिंदी में alp viram chinh का काफी प्रयोग किया जाता है।लेकिन फिर भी इसके उपयोग के लिए कोई निश्चित नियम नही बना है।

इस लिए कुछ अवस्थाएं ऐसे है जिनमे इनका प्रयोग होता है –

1.जब एक ही शब्द-भेद के तीन या अधिक शब्दो के मध्य में सम्मुच्य बोधक का प्रयोग हो तब अंतिम शब्द को छोड़कर अल्प विराम चिह्न का प्रयोग होता है। जैसे –

  • राम, मोहन, मोहन और सोहन बाजार गए है।
  • पढ़ना, लिखना, घूमना और सोना ही उसका काम है।
  • मैं, तुम और राम खेलेंगे।

2.संबोधन के ठीक बाद Alp viram chinh का प्रयोग किया जाता है –

  • हे भगवान, मेरा क्या होगा।
  • हैलो दोस्तो, कैसे हो आप सब।
  • सुनो बच्चो, धूप में मत दौड़ो।

3.किसी उक्ति के ठीक पहले भी अल्प विराम चिह्न (Alp viram chinh) का प्रयोग किया जाता है –

  • राम ने कहा, ‘मै स्कूल जा रहा हूं।”
  • मैने कहा, “क्या तुम मेरे साथ चलोगे।”
  • मोदी जी ने कहा, “आज रात 12 बजे से पांच सौ और हज़ार के नोट बंद हो जायेंगे।”

4.जब वाक्य में यह, वह, तब आदि का लोप हो ऐसे में वहा पर Alp viram chinh का प्रयोग किया जाता है-

  • वह जब जाता है, अपना ही रोना रोता है।
  • तुम जब खाते हो, बहुत अधिक आवाज करते हो।
  • मोहन पीता है, कहा नही जा सकता।
  • तुम कब आओगे, पता नही चलता।

5.हा, नही, बस, अतः, अच्छा जैसे शब्दो के बाद भी Alp viram chinh का प्रयोग होता है –

  • अच्छा, मुझे बोल रहा है।
  • बस, अब और कोई सवाल नही।
  • अतः, तुम्हे वहा जाना चाहिए।
  • हां, सही बात है।

6.यदि कोई खंड वाक्य लेकिन, किन्तु, परंतु, पर आदि से सुरु हो तो उसके पहले भी अल्प विराम चिह्न का प्रयोग किया जाता है –

  • वह तो बिलकुल नही पढ़ता है, फिर भी पास कैसे हो गया।
  • तुम खाते हो, लेकिन पचा नहीं पाते।
  • मैं जाऊंगा, लेकिन रुकूंगा नही।

7.दो वाक्य खंडों के बीच ‘और’ के लोप होने पर अल्प विराम चिह्न का प्रयोग किया जाता है –

  • मैं जाता हूं, तुम आते हो।
  • बच्चे स्कूल आते हैं, पाठ पढ़कर चले जाते हैं।

तो दोस्तो ये वो कुछ नियम या फिर परिस्थितियां हैं, जिनमे अल्प viram चिह्न का प्रयोग किया जाता है।

ये भी पढ़ें

दोस्तों ये थी आज की जानकारी जिसमे मैंने Alp Viram Chinh (अल्प विराम चिह्न) के बारे में आपके साथ जानकारी साझा की है।आशा करता हु की आप लोगो को अल्प विराम चिह्न alp viram chinh से संबंधित सारे सवालों के जवाब मिल गया होगा।अगर कोई जानकारी मुझसे छूट गई हो तो आप कॉमेंट करके जरूर बताएं।साथ ही अगर आपका कोई सवाल हो तो वो भी जरूर पूछे, धन्यवाद।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button