Technology

शहद के फायदे


मधु या शहद (अंग्रेज़ी:Honey हनी) एक मीठा, चिपचिपाहट वाला अर्ध तरल पदार्थ होता है जो मधुमक्खियों द्वारा पौधों के पुष्पों में स्थित मकरन्दकोशों से स्रावित मधुरस से तैयार किया जाता है और आहार के रूप में मौनगृह में संग्रह किया जाता है।

शहद के फायदे

शहद खाने के फायदे के बारे में आयुर्वेद में प्रमुखता से उल्लेख मिलता है। आयुर्वेद में शहद को एक औषधि का दर्जा मिला है। शहद Best Natural Sweetener में से एक है जिसका पूरी दुनिया में लोग करते हैं। इसके अलावा आज शहद का उपयोग न केवल स्वास्थ्य के लिये बल्कि सौंदर्य के लिये भी किया जाता है।

पाचन शक्ति

शहद में एंटीमाइक्रोबियल और एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं जो पाचन शक्ति को बेहतर बनाने में मदद करता है।

कफ से आराम

अगर आप कफ की समस्या से परेशान हैं तो शहद आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है।

स्किन के लिए

शहद का इस्तेमाल कर आप ड्राई स्किन की समस्या से छुटकारा पा सकती हैं।

अनिद्रा

शहद अनिद्रा की समस्या को भी दूर करने में कारगर है। रात को सोने से पहले गर्म दूध में शहद मिलाकर इसका सेवन करें। जल्द रिजल्ट दिखेगा।

होंठों के लिए

अगर आपके होंठ फट रहे हैं तो शहद को लिप बाम की तरह इस्तेमाल करें।

शहद खाने के फायदे कोलेस्ट्रॉल में

शहद के सेवन से कुल कोलेस्ट्रॉल, एलडीएल और ट्राइग्लिसराइड्स कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम किया जा सकता है। इसके अलावा, यह फायदेमंद कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल को बढ़ाने में मददगार हो सकता है। शहद में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड्स हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं

हाई ब्लड प्रेशर में शहद खाने के फायदे

शहद में क्वेरसेटिन नामक फ्लेवोनोइड पाया जाता है। यह क्वेरसेटिन रक्तचाप की समस्या को कुछ हद तक कम करने में मददगार हो सकता है

कैंसर के लिए फायदेमंद

शहद में पाए जाने वाले फेनोलिक कंपाउंड्स में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो कैंसर के कई प्रकारों से बचाने में फायदेमंद हो सकते हैं। इसके अलावा, शहद में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो इसे कैंसर को रोकने का सबसे खास खाद्य पदार्थ बनाते हैं। इसके साथ ही शहद प्रतिरक्षा प्रणाली को भी सुधारने (honey ke fayde) का काम कर सकता है, जिससे कैंसर को बढ़ने से रोकने में कुछ हद तक मदद मिल सकती है।

गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान

वैसे तो शहद के फायदे हर उम्र के लोगों के लिए उपयोगी हैं लेकिन गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान आप इसका सीमित मात्रा में ही सेवन करें। अगर आप शहद का सेवन औषधि के रुप में करना चाहती हैं तो स्त्री रोग विशेषज्ञ की सलाह के अनुसार करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button